ममता ने कल कहा घेराव करो केंद्रीय बलों का आज की गई चुनाव ड्यूटी दे रहे जवानों की रायफलें छीनने की कोशिश , हिंसा में 4 की मौत

कोलकाता /पश्चिम बंगाल में चौथे चरण के चुनाव के बीच कूचबिहार में भड़की हिंसा में 4 लोगों की मौत हो गई।समाचार एजेंसी पीटीआई ने पुलिस के सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि पश्चिम बंगाल में कूचबिहार जिले के सीतलकूची में सीआईएसएफ ने अपने ऊपर हमले के बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए कथित तौर पर गोलियां चलाई, जिसमें चार लोग मारे गए। वहीं, एएनआई के मुताबिक, टीएमसी ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय बलों ने यह फायरिंग की है, जिसमें लोगों की मौतें हुई हैं। यहां बताना उपयुक्त होगा की एक दिन पूर्व ही पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और TMC प्रमुख ममता बनर्जी ने एक रैली में अपने कार्यकर्ताओं से केंद्रीय सुरक्षा बलों के जवानों का घेराव करने की बात कही थी। प्रधानमंत्री मोदी ने  एक मुख्यमंत्री द्वारा की गई ऐसी अपील को बेहद आपत्तिजनक व गुंडों को प्रश्रय देने वाला निरूपित किया था साथ ही कहा था जो जवान आतंकवादियों नक्सलियों से नहीं डरते वो आपके गुंडों से क्या डरेंगे।

 उधर इसको लेकर बीजेपी और टीएमसी दोनों आमने-सामने हैं। टीएमसी की ओर से इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की गई है, वहीं पीएम मोदी ने सिलीगुड़ी की चुनावी रैली में इस हिंसा का जिक्र करते हुए टीएमसी पर कई आरोप लगाए और चुनाव आयोग से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। आखिर यह पूरा मामला क्या है और बीजेपी और टीएमसी के बीच इस हिंसा को लेकर कैसे नई जंग छिड़ गई है जानिए…

कूचबिहार में आज सुबह आखिर हुआ क्या
पहला पक्ष: 
कूचबिहार जिले के माथाभांगा में कथित तौर पर केंद्रीय बलों की गोलीबारी में 4 लोगों की मौत हो गई। इस पर दोनों पक्षों की ओर से अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं।ऐसा आरोप है कि स्थानीय लोगों ने सीआईएसएफ जवानों की ‘‘राइफलें छीनने की कोशिश की।’’ पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह घटना सीतलकूची में हुई जब मतदान चल रहा था। उन्होंने बताया, ‘प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार एक गांव में अपने ऊपर हमला किए जाने के बाद सीआईएसएफ जवानों की गोलीबारी में चार लोग मारे गए। वहां झड़प हुई और स्थानीय लोगों ने उनका घेराव कर दिया और उनकी राइफलें छीनने की कोशिश की जिसके बाद केंद्रीय बलों ने गोलियां चलाईं।’ बीजेपी के कूचबिहार से सांसद नितिश प्रमाणिक ने टीएसमी समर्थकों पर बूथ पर हमला करने का आरोप लगाया। प्रमाणिक दिनहाटा निर्वाचन क्षेत्र से विधानसभा चुनाव भी लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘टीएमसी के गुंडों ने बूथ को लूटने के इरादे से उस पर हमला किया। संभवत: केंद्रीय बलों ने आत्म रक्षा में गोलियां चलाई।’
बाकी क्या कह रहे हैं: न्यूज एजेंसी भाषा ने एक सूत्र के हवाले से बताया कि सीतलकूची के माथाभंगा इलाके में मतदान चलने के दौरान टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प शुरू हो गई। उन्होंने कहा, ‘उनमें से कुछ ने एक मतदान केंद्र के बाहर सीआईएसएफ जवानों का घेराव किया और उनकी राइफलें छीनने की कोशिश की जिसके बाद यह घटना हुई।’ निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने घटना पर जिले के अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है। इससे पहले सुबह सीतलकूची निर्वाचन क्षेत्र में ही एक मतदान केंद्र के बाहर अज्ञात लोगों ने पहली बार वोट डालने आए एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *