प्रवीण तोगड़िया का खुलासा मोदी ने कभी नहीं बेची चाय ये सिर्फ पब्लिसिटी स्टंट

 कभी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मित्र रहे प्रवीण भाई तोगड़िया अब न तो अब विश्व हिंदू परिषद में हैं न संघ परिवार के सदस्य उनके और प्रधानमंत्री मोदी के बीच अब दोस्ती भी दुश्मनी में बदल चुकी है वे जहां अलग राजनीतिक संगठन बनाने की घोषणा कर चुके हैं वहीं प्रधानमंत्री मोदी पर भी लगातार प्रहार कर रहे हैं अब उन्होंने उनपर ताजा हमला बोलकर सनसनी फैला दी है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बचपन में चाय बेची थी या नहीं’, ये सवाल बीते कई वर्षों से चर्चा में बना हुआ है. अब इस मुद्दे पर कभी नरेंद्र मोदी के साथ काम करने वाले प्रवीण तोगड़िया ने बड़ा बयान दिया है. विश्व हिंदू परिषद के पूर्व प्रमुख प्रवीण तोगड़िया का दावा है कि वह नरेंद्र मोदी को 43 साल से जानते हैं, लेकिन उन्होंने कभी उन्हें चाय बेचते नहीं देखा. तोगड़िया ने दावा किया कि ये सिर्फ पब्लिसिटी स्टंट है और कुछ नहीं.

मीडिया से बात करते हुए तोगड़िया ने कहा कि मैंने डॉक्टरी की है, अगर आप मेरे दोस्तों या जान-पहचान वालों से पूछेंगे तो उनसे भी इस बात के सबूत मिलेंगे, लेकिन नरेंद्र मोदी के ‘चाय बेचने’ के दावे को कोई साबित नहीं कर पाएगा.

गौरतलब है कि प्रवीण तोगड़िया एक बार फिर राम मंदिर निर्माण को लेकर अपने नए संगठन अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद को साथ लेकर आंदोलन करने की बात करते आए हैं. इसी दौरान उन्होंने भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बीजेपी-आरएसएस की राम मंदिर बनाने की कोई मंशा नहीं है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आरएसएस के भैयाजी जोशी के बयान से ये साफ हो गया है कि अगले पांच साल में भी राम मंदिर नहीं बनने जा रहा है. इन दोनों संगठनों ने देश के लोगों को अंधेरे में रखा है, लेकिन अब हिंदू जाग चुका है. इस दौरान उन्होंने ऐलान किया कि वह 9 फरवरी को नई राजनीतिक पार्टी का ऐलान करेंगे, अगर वो पार्टी सत्ता में आती है तो संसद में कानून लाकर राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा.

नरेंद्र मोदी पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि अगर वह तीन तलाक बिल के लिए आधी रात को कानून ला सकते हैं, तो फिर मंदिर के लिए ऐसा क्यों नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि अगर मोदी दोबारा प्रधानमंत्री भी बन जाते हैं फिर वह मंदिर नहीं बनाएंगे.

प्रवीण तोगड़िया ने दावा किया कि अगर बीजेपी 2019 में चुनाव हारती है तो नरेंद्र मोदी वापस गुजरात चले जाएंगे और भैयाजी जोशी की भी नागपुर में वापसी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *