Homeप्रमुख खबरेंमुस्लिम समुदाय के असामाजिक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर...

मुस्लिम समुदाय के असामाजिक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

सर्व हिंदू समाज ने कहा-असामाजिक तत्व हिंदू समाज में भय का वातावरण कर रहे निर्मित
ग्वालियर/ अनुसूचित समाज सहित संपूर्ण हिन्दू समाज को मुस्लिम समुदाय के असामाजिक तत्वों द्वारा सुनियोजित तरीके से प्रताडि़त किए जाने के विरोध में सोमवार को सर्व हिंदू समाज ने जिलाधीश की अनुपस्थित में एडीएम टीएन सिंह को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। जिसमें मांग की गई हिंदू समाज में भय व्याप्त करने वाले मुस्लिम समुदाय के असामाजिक तत्वों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए।
कलेक्ट्रेट परिसर में सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया विगत कई दिनों से ग्वालियर- चंबल संभाग में मुस्लिम समुदाय के असामाजिक तत्वों द्वारा प्रायोजित
तरीके से हिन्दू समाज को प्रताडि़त करने का सुनियोजित अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें हिन्दुओं की व शासन की शासकीय जमीनों पर कब्जा करना, हत्या करके समाज में भय उत्पन्न करना, लड़कियों का अपहरण करना व गौ हत्या जैसे गंभीर अपराध शामिल हैं। उपरोक्त अपराध में शामिल मुस्लिम समुदाय के इन लोगों को कानून का भी भय नहीं है। वह बेखौफ होकर अपराध कर हिंदू समाज में भय का वातारण निर्मित कर रहे हैं।
ग्वालियर-चंबल संभाग में ऐसी कई घटनाएं सामने आई हंै। ताजा घटना ग्वालियर शहर के मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र आपागंज में चार मुस्लिम युवकों ने हिंदू बेटियों से छेड़छाड़ की, जब पिता बालकिशन यादव और भाई सौरभ यादव ने विरोध किया तो आरोपी सलमान, समीर, इमरान और मुबारिक ने उन्हें दुकान से खींचकर बेरहमी से पीटा। सौरभ के गले, गाल और कान के नीचे चाकू मार दिए, जिसके चलते वह जिन्दगी एवं मौत की लड़ाई लड़ रहा है।
एक अन्य घटना भिण्ड जिला मुख्यालय की है जहां गोल बाजार क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय के व्यक्तियों द्वारा बाल्मीकि समाज के बन्धुओं की इतनी पिटाई कि एक युवक अरुण बाल्मीकि की घटना स्थल पर ही मृत्यु हो गई, जबकि मृतक का भाई गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना के पीछे अनुसूचित जाति में भय व्याप्त करना हो सकता है, क्योंकि ऐसा भय उत्पन्न करके मतांतरण होते रहे हैं।
इसी प्रकार की एक अन्य घटना दतिया जिले के भाण्डेर कस्बे में
शिवशंकर शर्मा की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने की है, इनकी जमीन को मुस्लिम समुदाए द्वारा कब्जा बताकर अवैध रूप से कब्जा किया जा रहा है। एक अन्य घटना अशोकनगर जिले में हिंदू (जाटव समाज) की लडकी की जबरन शादी कराने के लिए मुस्लिम समाज द्वारा उठा लिया गया है। जिसमें पांच मुस्लिम व्यक्तियों के नाम सामने आए हंै। उपरोक्त सभी घटनाएं निजी दुश्मनी की घटनाएं न होकर मुस्लिम धर्म के लोगों द्वारा हिंदू परिवारों में भय व्याप्त करने के उद्देश्य से आपराधिक षडय़ंत्र कर की गई है।
इन घटनाओं के पश्चात हिंदू परिवार के बहन-बेटियां अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रही हैं और हिंदू समाज में भय व्याप्त तथा आक्रोश है जबकि आरोपी बेखौफ है। इसलिए मुस्लिम समुदाय के इन असामाजिक तत्वों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए ताकि वह भविष्य में अपराध करने की सोच भी न सकें।
ज्ञापन सौंपने वालों में मध्य भारत प्रांत के सामाजिक सद्भाव कार्य प्रमुख घनश्याम रघुवंशी,अभिभाषक पवन शर्मा, श्रीमन नारायण शर्मा, कौशलेन्द्र सिंह, भानु प्रताप सिंह चौहान, एपीएस तोमर, दिनेश सविता, हेमलता राव, ज्योति सगर,
अपर्णा पाटिल, ज्योति नार्वे, संजय कुशवाह, ऊषा मौर्य, शैलेंद्र कुशवाह, मोहित शिवहरे आदि शामिल रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments