Homeदेशकासगंज के कलेक्टर ने कहा चन्दन की मौत गोली लगने से हुई...

कासगंज के कलेक्टर ने कहा चन्दन की मौत गोली लगने से हुई और यह जिस छत से चलाई गई थी वह मकान मुस्लिम समुदाय का है

उत्तर प्रदेश के कासगंज में 26 जनवरी के दिन हिंसा के पीछे की वजह कासगंज के डीएम आरपी सिंह ने समाचार चैनलआजतक पर सिलसिलेवार तरीके से बताई है। इस बातचीत के बाद यह पूरी तरह साफ हो जाता है कि चन्दन की मौत गोली लगने से हुई और यह छत से चलाई गई थी।

कासगंज के डीएम आरपी सिंह ने देश के प्रमुख न्यूज़ चैनल ‘आजतक’ से खास बातचीत में बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि चंदन गुप्ता को लगी गोली छत से चलाई गई थी. 3है. इसके अलावा डीएम ने हिंसा को लेकर कई बातें कहीं.

विवाद बढ़ने पर दूसरे पक्ष ने ईंट-पत्थर चलाए जिससे वे लोग मोटरसाइकिल छोड़कर भाग आए. वहां से 500 मीटर दूर ही स्थित तहसील रोड और सूत मंडी मोहल्ले में ये लोग चले आए. बाद में ये लोग तैयार होकर 20-25 की संख्या में बदला लेने की भावना से ये कहकर निकले कि वहां तो उन्होंने हमें आगे जाने से रोक दिया, देखते हैं कि यहां कैसे रोकेंगे.

वहीं दूसरी ओर जिस घर के लोगों ने इन्हें रोका था, जहां से ईंट-पत्थर चलने की शुरुआत बताई गई, बताया जा रहा कि वहां छत से गोली चलाई गई. फायरिंग में अभिषेक उर्फ चंदन नाम के लड़के की मौत हो गई, वहीं नौशाद (35) के पैर में गोली लगी. अस्पताल में चंदन को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि नौशाद को अलीगढ़ में भर्ती करा दिया गया. गोली किसने चलाई, इसकी अभी जांच की जा रही है.

बाद में जैसे-जैसे लोगों को पता लगा कि ये दो समुदायों के बीच विवाद था, इसे कम्युनल रूप देने का प्रयास किया गया. इस बीच हम लोगों को पर्याप्त फोर्स मिल गई थी, जिससे और बड़ी घटना घटने से बच गई.

विवाद की क्या है वजह

डीएम ने बताया कि इस मामले में एक पक्ष का कहना था कि हम लोग वहां पहुंचे तो हम हिन्दुस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे. तो उन लोगों ने भी हमारे सामने हिन्दुस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया. उसके बाद उन्होंने ये कहा कि मैंने हिन्दुस्तान जिंदाबाद का नारा लगा दिया है, अब तुम लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाओ. तो इन्होंने कहा कि हम हिन्दुस्तान के हैं. हम पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे नहीं लगाएंगे. इस बात की कितनी सत्यता है, ये अभी नहीं कहा जा सकता. इस बात का अभी तक प्रत्यक्षदर्शी नहीं मिला है. जांच में पता चलेगा कि सच कौन बोल रहा है.

क्या गोली सिर्फ एक समुदाय से चली

चंदन को मारी गई गोली का एंगल देखने से पता चलता है कि गोली ऊपर से चलाई गई यानि छत से चलाई गई है. जो मकान वहां पर है वो मुस्लिम का है. प्रथम दृष्ट्या पता चलता है कि गोली उस मकान से चलाई गई है. कयास लगाया जा रहा कि गोली मुसलिम द्वारा चलाई गई होगी. आईओ इसकी जांच कर रहा है.

मजिस्ट्रेट जांच होने तक कुछ कहना ठीक नहीं

मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि ये लोग जो यहां आए थे, उनके हाथ में असलहे थे, डंडे थे, हॉकी थी. हो सकता कि फायरिंग इनकी ओर से भी हुई हो और गोली नौशाद को लगी.

डीएम ने कहा कि जब तक मजिस्ट्रेट जांच नहीं हो जाती, तब तक इस बारे में कुछ भी कहना ठीक नहीं है.

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments