Google search engine
Homeग्वालियर अंचलजनता पर प्रोपर्टी टैक्स का दबाव लेकिन सरकारी कार्यालय नहीं जमा करते...

जनता पर प्रोपर्टी टैक्स का दबाव लेकिन सरकारी कार्यालय नहीं जमा करते सेवा कर लाखों बकाया

ग्वालियर शहर में रेलवे, नार्कोटिक्स, आकाशवाणी एजी ऑफिस, फिजिकल यूनिवर्सिटी, दूरदर्शन केन्द्र, आयकर कार्यालय, रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज, केन्द्रीय भण्डार निगम, भारतीय पर्यटन एवं यात्रा प्रबंधन व जीवाजी विश्वविद्यालय  पर  सेवा कर  के लाखों बकाया , निगम को लेना है

केन्द्रीय कार्यालयों के अधिकारियों ने सेवा कर जमा करने की दी सहमति
संभाग आयुक्त श्री सक्सेना ने केन्द्रीय अधिकारियों के साथ सेवा कर के संबंध में की बैठक

ग्वालियर / नगर निगम द्वारा केन्द्रीय कार्यालयों से संपत्तिकर न लेकर सेवा कर की राशि ली जाती है। ग्वालियर शहर में केन्द्रीय कार्यालयों पर सेवा कर की लाखो की राशि बकाया है यह राशि लेने के उद्देश्य से संभागीय आयुक्त एवं नगर निगम प्रशासक श्री आशीष सक्सेना ने मंगलवार को बैठक की। बैठक में केन्द्रीय कार्यालयों के अधिकारियों द्वारा सेवाकर देने की सहमति भी दी गई। सेवा कर के संबंध में गणना एवं अन्य जो त्रुटियां हैं उसका निराकरण करने के लिये निगम के अपर आयुक्त केन्द्रीय कार्यालयों के अधिकारियों के साथ बैठकें कर निराकरण करायेंगे।
मोतीमहल के मानसभागार में सेवा कर के संबंध में आयोजित बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री किशोर कान्याल, अपर आयुक्त श्री राजेश श्रीवास्तव सहित नार्कोटिक्स विभाग, जीवाजी विश्वविद्यालय, हाउसिंग बोर्ड के साथ न्य विभागीय अधिकारी भी उपस्थित थे।
संभाग आयुक्त श्री आशीष सक्सेना ने बैठक में गूगल मी के माध्यम से एजी एमपी के अधिकारियों से भी चर्चा की और सेवा कर जमा करने के संबंध में आग्रह किया। आंकड़ों की गणना एवं अन्य समस्याओं के निराकरण के लिए अपर आयुक्त श्री राजेश श्रीवास्तव को व्यक्तिगत रूप से एजी ऑफिस जाकर चर्चा करने के निर्देश भी दिए।
संभाग आयुक्त श्री आशीष सक्सेना ने बैठक में बताया कि केन्द्रीय कार्यालयों को संपत्तिकर से छूट रहती है लेकिन सेवा कर जमा करने का प्रावधान है। सभी केन्द्रीय कार्यालय निगम को सेवा कर की राशि अवश्य जमा करें। उन्होंने यह भी कहा कि जिनके पास बजट में प्रावधान नहीं हैं वे बजट प्रावधान भी करें ताकि सेवा कर की राशि नियमित रूप से जमा हो सके।
बैठक में बताया गया कि ग्वालियर शहर में रेलवे, नार्कोटिक्स, आकाशवाणी एजी ऑफिस, फिजिकल यूनिवर्सिटी, दूरदर्शन केन्द्र, आयकर कार्यालय, रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज, केन्द्रीय भण्डार निगम, भारतीय पर्यटन एवं यात्रा प्रबंधन व जीवाजी विश्वविद्यालय से सेवा कर निगम को लेना है।
नगर निगम आयुक्त श्री किशोर कान्याल ने बैठक में कहा कि केन्द्रीय कार्यालयों से सेवा कर लेने के संबंध में बैठक में दिए गए निर्देशों के परिपालन में निगम की ओर से अपर आयुक्त श्री राजेश श्रीवास्तव, केन्द्रीय कार्यालयों से चर्चा कर उनकी जो भी सेवा कर के संबंध में दिक्कतें होंगीं, उसके निराकरण की पहल करेंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments