Google search engine
Homeसेहतयदि तनाव और डिप्रेशन से हैं परेशान तो सुबह उठकर अपनाएं यह...

यदि तनाव और डिप्रेशन से हैं परेशान तो सुबह उठकर अपनाएं यह समाधान

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी है। तनाव बढ़ने से शरीर का रक्त चाप बढ़ने लगता है जिससे दिल की बीमारी का खतरा भी काफी बढ़ जाता है। ऐसे समय के लिये विशेषकर उच्च रक्तचाप की समस्या के लोगों के लिए ध्यान एक तैयार टॉनिक जैसा समाधान है।

हमारे मन में अनेक प्रकार की ग्रंथिया होती है जिनमें सभी अंग क्रिया शील रूप से कार्य करते है। इसके साथ ही हमारे मन में कई कल्पनाएं और विचार भी चलते है। जो हमारे मन मस्तिष्क में कोलाहल मचाते है जिससे हमारा मन अशांत सा भटकता रहता है। लगातार सोच विचार से हमारे शरीर पर भी इसका बुरा असर देखने को मिलता है। हम कमजोर होते जाते है। जिसका असर त्वचा में भी काफी देखने को मिलता है। त्वचा मानव शरीर का सबसे बड़ा हिस्सा है। जिससे सभी अंग जुड़े होते है और त्वचा की चमक से ही हमारी सुंदरता भी प्रभावित होती है। ध्यान एक ऐसी प्राचीन भारतीय पद्धति है जिसका उपयोग काफी समय से होता आया है। जो हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाकर जीवन में नवउर्जा का संचार करता है। ध्यान हमारे रोजमर्रा की जिंदगी के लिये काफी आवश्यक होता है। ये तन और मन दोनों को क्रियाशील ब

ध्यान एक ऐसी क्रिया है जिसके माध्यम आप अपने जीवन की अनेक समस्याओं का निवारण कर सकती है। वैसे ही जैसे हमे अपने शरीर के पोषण और स्वास्थ्य के लिए भोजन की जरूरत है, इसके अलावा हमारी त्वचा पर भी इसका विशेष असर देखने को मिलता है। तो जानें ध्यान के माध्यम से होने वाले फायदों के बारे में।

Meditation

बेहतर और खूबसूरत त्वचा
ध्यान आपके शरीर की कोशिकाओं एंव इंद्रियों को नियत्रिंत कर मांसपेशियों को आराम देता है और नए त्वचा कोशिकाओं का निर्माण कर हमारे शरीर को क्रियाशील बनाता है। मुक्त कणों और तनाव का मुकाबला कर चेहरे पर पड़ी झुर्रियों की समस्या को दूर करता है। बढ़ते तनाव को कम कर , हार्मोनल असंतुलन, जैसी बुराईयो तो दूर कर हमारे तन मन को तरोताजा करता हैै।

 मानसिक स्वास्थ्य में सुधार
लगातार होती जीवन की भागदौड़ में अनेक प्रकार की उलझनें और तनाव आते है। जिससे हमारा मन हमेशा विचलित सा बना रहता है। ध्यान ऐसे समय में वरदान रूपी भेंट है, जिसे करके आप अपनी अंदर की उथल पुथल का काफी हद तक कम कर सकते है। क्योकि यह तनाव को कम कर शरीर को आराम पहुंचाने में अहम भूमिका निभाता है। इसके अलावा पुराने तनाव को भी कम कर सार्थक परिणाम देता है। इसलिये आपको अपने घर पर नियमित रूप से स्वच्छ जगह पर बैठकर व्यायाम करना चाहिए।

 त्वचा हाइड्रेट
ध्यान करने से हमारा मन शांत होने के साथ शरीर में स्थिरता बढ़ती है और बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी बढ़ती है। इससे शरीर में नई ऊर्जा का संचार होता है। और त्वचा की नमी को बनाये ऱखने के साथ उसे सुंदर और सुखद बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका भी अदा करता है। कई दिमागी बीमारियों को भी दूर कर मन तो शांति प्रदान करता है।

400

रक्तचाप को संतुलित करता है
तनाव बढ़ने से शरीर का रक्त चाप बढ़ने ल333गता है जिससे दिल की बीमारी का खतरा भी काफी बढ़ जाता है। ऐसे समय के लिये विशेषकर उच्च रक्तचाप की समस्या के लोगों के लिए ध्यान एक तैयार टॉनिक है। जिसे नजरंदाज करना सबसे बड़ी भूल हो सकती है। ध्यान करने के लिये आप 15-20 मिनट तक अपनी दोनो आँखें बंद करें और ध्यान की मुद्रा में बैठ जाएं। यही आपके स्वास्थ के लिये सबसे बड़ा टॉनिक बन सकती है।

5. तन मन को मिलती है खुशी
ध्यान करने से हमारे शरीर की ग्रंथिया सिथर रहती है मन को अपने काबू में करने की शक्ति मिलती है। जिससे मानसिक चंचलता और अस्थिरता पर नियंत्रण आता आता है। जिससे हमारा मन हमेशा तनाव मुक्त रहते हुए खुश रहता है। एक खुश मन के साथ गुस्सा करने की आदत भी धीरे-धीरे काबू में आ जाती है। पूरे दिन अच्छा और सकारात्मक माहौल बना रहता है।

ध्यान हमारे तन मन को काबू करने की एक अद्भुत दवा है जिसके लिये अब प्रमुख स्वास्थ्य विशेषज्ञ भी कहते है कि अपने को स्वस्थ रखने के लिये आप इसका चयन अवश्य रूप से करते हुए 10 से 15 मिनट का समय अवश्य रूप से दें। इसके लिये आप स्वच्छ और सांत पूर्ण जगह पर बैठ कर आंखें बंद कर ध्यान में पूरी तरह से मग्न हो जाये और अपने शरीर को बिल्कुल ढीला छोड़ दें। जिससे आप का शरीर काफी हल्का हो जायेगा और आपको इसके बाद अद्भुत शांति प्राप्त होगी।

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments